What is Router In Networking Hindi me (Router Kya Hota Hai..?)

Router एक Network Device है, Router Layer 3 Device हैं जो OSI Seven Model की network layer पर काम करता है।

Router दो या दो से अधिक Networks के बीच एक Junction की तरह कार्य करता है ताकि उनके बीच Data के Packets इधर से उधर हो सकें।

Router पैकेट्स को दूसरे Network interface मे Convert, ड्राप या फिर दूसरा नेटवर्क रिलेटेड ऑपरेशन भी perform कर सकता है |

In Other Words – “Routers एक Small Electronic Device होता  है जो की Multiple Computer Networks को Wired or Wireless Connections की Help से आपस मे Connect करता है, जो भी Packet Router को Receive होते है उन Data को analyse करके दूसरे नेटवर्क मे Forward करने का काम करता है।

router-in-networking

Router-Switch का ही एक भिन्न रूप है। Switch Devices को जोड़ते है ताकि एक लोकल एरिया Network बन सके Router और Switch के विभिन्न कार्यों की समझने का सबसे आसान तरीका यह है कि अगर हम Switch को पड़ोस की सड़कें मान लें और Router को सड़क के चिन्हो से बने हिस्से।

एक बड़े Network में एक से ज्यादा रूट हो सकते है जिनके जरिए सूचनाएं अपनी मंजिल तक पहुच सकें।

कुछ Router ऐसै भी होते है जो अपने आप पता लगा लेते है कि Network के फला हिस्से में कुछ गड़बड़ है या वह काफी स्लो है।  Router को बुद्धिमान कहा जाता है क्योकि वे Decide लेते है कि किसी सूचना को उसकी मंजिल तक पहुचाने का सबसे अच्छा रास्ता कौन सा होगा या है।

How Router Works (Routers कैसे काम करता हैं ) :

Router कि memory मे embedded operating system (O/S) स्टोर होता है जो की दूसरे OS की तुलना मे बहुत कम storage space लेता है।

कुछ Popular router operating systems जैसे: Cisco Inter network Operating System (IOS), DD-WRT, FRITZ! OS. RouterOS. SmoothWall. Tomato. AirOS & EdgeOS. Vyatta. ExtremeXOS e.t.c है।

जब भी  राऊटर के पास कोई पैकेट आता है तो router डेस्टिनेशन नेटवर्क का address एवं internal routing table चेक करने के बाद decide करता है की पैकेट को किस पोर्ट या नेटवर्क मे फॉरवर्ड करना है।

Actually Routing डाटा के फ्लो को नेटवर्क सेग्मेंट्स के बीच और hosts or routers के बीच मैनेज करने का process है, इस routing को मैनेज करने के लिए राऊटर एक table मैनेज करता है जिसमे network के दूसरे routers की information store होती है।

अगर आपको ये Post अच्छा लगा तो दोस्तों के साथ जरूर Share करें। अपने सुझाव निचे Comment मे जरूर लिखें।

———–

>

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: !! Content is protected !!